इलेक्ट्रानिक पानी-टंकी जलस्तर सूचक

समस्या:

हमलोग जानते हैं कि जल का बहुत महत्व है, इसके आलावा उर्जा का भी बहुत महत्व है| आजकल विद्युत् मोटर से संचालित पानी का सिस्टम बहुत प्रचलित हो गया है, परन्तु अधिकांश सिस्टम में पानी टैंक में भर जाने के बाद भी मोटर बंद नहीं होता है और बहुत मात्रा में पानी कि बर्बादी होती है| इसके साथ उर्जा कि भी बर्बादी होती है| अगर हम कुछ ऐसा आविष्कार करें जिससे कि इस बर्बादी को रोका जा सके तो हम बहुत मात्रा में पानी तथा उर्जा का संरक्षण कर सकेंगे|

समाधान:

इसके लिए हम पानी के अंदर बहुत सारे डिटेक्टर प्रोब लगायेंगे जो कि पानी के लेवल को डिटेक्ट करेगा और विभिन्न जलस्तर पर इसका सुचना किसी लाईट को जला कर देगा| जब जलस्तर अपनी उच्चतम सीमा को पार कर जायेगा तो अलार्म बजकर इसकी सुचना देगा| इसका परिपथ-संरचना (सर्किट) बहुत ही साधारण है|

जरुरी उपकरण:

  • ताम्बे कि तार, 3-5 सेमी कि 8 कि संख्या में
  • रिबन तार, टैंक तथा प्रदर्शन-बिंदु के बीच के दुरी के बराबर
  • ब्लू, सफेद तथा लाल रंग कि इलेक्ट्रानिक-बल्ब (LED)
  • इलेक्ट्रानिक-घंटी
  • 9V कि बैटरी
  • बैटरी कनेक्टर
  • PCB

डायग्राम तथा कार्यप्रणाली:

इस सिस्टम को बनाने के लिए पहले हम डिटेक्टर प्रोब बनायेंगे, इसके लिए हम ताम्बे कि तार को समान्तर इस प्रकार से रखेंगे कि उसके बीच में लगभग 1सेमी कि जगह हो| तथा दोनों तार को एक विद्युत् कुचालक जैसे कि प्लास्टिक अथवा के सहायता से निचे दिए हुए चित्र-1 कि तरह जोर देंगे| इस बात का ध्यान रहना चाहिए कि रिबन-तार जो कि ताम्बे के खुली तारों से जूरी हुई है, किसी भी स्थिति में पानी के संपर्क में नहीं आनी चाहिए|

चित्र-2

चित्र-2

अब रिबन-तार के सहायता से दो-दो करके सभी चार डिटेक्टर-प्रोब को जोड़ देते हैं| और इसके दुसरे सिरे को प्रदर्शनी-स्थान पर LED और इलेक्ट्रानिक-घंटी से चित्र-2 के अनुसार जोड़ देते हैं|

चित्र-2

चित्र-2

इस बात का हमेशा ध्यान रहे कि हम इस सर्किट में AC-विद्युत का प्रयोग ना करें जिससे कि हमारे पिने के पानी में विद्युत प्रवाहित हो जाये और कोई अनहोनी हो जाए|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>